छह धाराओं में 15-15 वर्ष सजा, एक लाख अर्थदंड

– रिश्तेदार की किशोरी को अगवा कर किया देहशोषण – देहशोषण से पीडि़त किशोरी बच्चे की मां बनी श्रीगंगानगर। अपने रिश्तेदार के यहां मेहमान बनकर आने-जाने वाले पांच बच्चों के पिता युवक ने रिश्तेदार की 14-15 वर्षीय किशेारी को बहला-फुसलाकर न केवल उसके घर में उसका देहशोषण करता रहा,बल्कि बाद में वह उसे अगवा कर …

continue reading